Poet

है जो काली रात वो ढल जाना है –

है जो काली रात वो ढल जाना है l
इन बदलों का रंग भी बदल जाना है l
दुनियाँ, दरियाओं को लाँघना सिखाती है l
हमें समंदर से आगे भी निकल जाना है
@सुमित

Show More

Related Articles

One Comment

  1. Sumit bhai really jb bhi aapki kavita padta hun to kitna bhi dukhi q na hum bus dil chanchal ho jata hai, aise hi update karte rahiye

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close